प्रेरक कहानी - किसान की बेटी ममता बिश्नोई ने स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा में टॉप किया

 प्रेरक कहानी - किसान की बेटी ममता बिश्नोई ने स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा में टॉप किया

प्रेरक कहानी - किसान की बेटी ममता बिश्नोई ने स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा में टॉप किया


बिश्नोई न्यूज़ डेस्क, बीकानेर। राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित स्कूल व्याख्याता (गृह विज्ञान) भर्ती परीक्षा 2018 का परिणाम हाल ही में जारी हुआ है। जारी परिणाम में श्रीगंगानगर जिले की ममता बिश्नोई ने राज्य भर में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।


बेटियां बेटों से कम नहीं है। जब भी मौका मिलता है उन्होंने साबित कर दिखाया है कि हर क्षेत्र में ये पुरुषों के साथ न केवल कंधे से कंधा मिलाकर चल सकती हैं बल्कि आगे भी निकल सकती हैं। आज हम आपके लिए लाए है ऐसी बेटी की कहानी जिसने विपरीत परिस्थितियों में संघर्ष के बल पर सफलता अर्जित कर प्रदेश भर में नाम किया। हाल ही में राजस्थान स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा 2018 का परिणाम जारी हुआ। लिखमीसर की ममता बिश्नोई ने पूरे प्रदेश में पहली रैंक हासिल की है।



ममता बिश्नोई श्रीगंगानगर जिले के लिखमीसर के निकटवर्ती चक 57 एलएनपी की रहने वाली है‌। ममता किसान परिवार से ताल्लुक रखती है। ममता बिश्नोई के पिता वीर विक्रमजीत बिश्नोई ने बताया कि ममता ने शुरुआती शिक्षा गांव में स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय में ग्रहण की। इसके पश्चात ममता ने माध्यमिक तक रिड़मलसर मैं शिक्षा ग्रहण की। सीनियर सेकेंडरी गंगानगर स्थित गुरुनानक गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल से उत्तीर्ण की। इंटर करने के पश्चात ममता ने एग्रीकल्चर विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित जेट परीक्षा पास कर बीकानेर स्थित कृषि विश्वविद्यालय से बी. एस. सी. व एम. एस. सी.( फूड्स एंड न्यूट्रीशन) में उत्तीर्ण की। ध्यातव्य रहे ममता ने बीएससी व एमएससी दोनों में गोल्ड मेडल प्राप्त किए।

वर्ष 2016 में यूजीसी द्वारा आयोजित नेट परीक्षा मैं भी ममता बिश्नोई ने सफलता प्राप्त की।

 ममता अपनी सफलता का श्रेय अपने दादाजी स्व. हंसराज जी सांवक , माता- पिता , गुरुजनों व परिवारजनों को दिया है। 



0/Post a Comment/Comments

कृपया टिप्पणी के माध्यम से अपनी अमूल्य राय से हमें अवगत करायें. जिससे हमें आगे लिखने का साहस प्रदान हो.

धन्यवाद!


Hot Widget