आईएएस परी बिश्नोई जीवन परिचय : IAS Pari Bishnoi Biography

आईएएस परी बिश्नोई जीवन परिचय : IAS Pari Bishnoi Biography 


नमस्कार साथियों! Bishnoism.Org पर आपका स्वागत है। आज की यह ब्लॉग पोस्ट जानकारी की दृष्टि से आप सभी के लिए महत्वपूर्ण है। हम इस पोस्ट में बात करेंगे समाज की युवा होनहार बेटी आईएएस परी बिश्नोई के बारे में। परी बिश्नोई से संबंधित रोचक तथ्य से परिपूर्ण इस ब्लॉग पोस्ट को पूरी अवश्य पढ़ें।
आईएएस परी बिश्नोई जीवन परिचय : IAS Pari Bishnoi Biography





शिक्षा मानव को सहजता से जीना सिखाती है। लेकिन वर्तमान में शिक्षा को मात्र सरकारी नौकरी से जोड़ कर देखा जाता है। जैसे-जैसे ग्राम्यांचलों में शिक्षा का प्रसार हुआ है। वैसे-वैसे गांवों से प्रतिभाएं निकलकर प्रतियोगिता परीक्षाओं में सफलता की नई इबारत लिख रहे हैं। पुलिस से लेकर पटवारी, एसआई, आरएएस और आईएएस तक के परिणामों में अब ग्रामीण युवक-युवतियां टॉप कर रहे हैं। आज हम आपको ऐसी ही प्रतिभाशाली ‌ग्रामीण क्षेत्र से ताल्लुक रखने वाली प्रतिभा से रूबरू करवा रहे हैं जो अपनी लगन व मेहनत से आईएएस बनकर जनसेवा के लिए ट्रेनिंग ले रही है। जी हां! हम बात कर रहे हैं बिश्नोई समाज की होनहार बेटी आईएएस परी बिश्नोई की। परी को समाज की प्रथम महिला आईएएस बनने का गौरव प्राप्त हुआ है।
Pari Bishnoi 
Biodata
Full NamePari Bishnoi
Date of Birth26 February, 1996
Nokha, Bikaner, Rajasthan
ParentsSmt Sushila Devi (RPF Inspector), Maniram Bishnoi (Advocate)
Education
  • Post graduation
  • Net-JRF
ProfessionIAS (Trainee officer)
CadreSikkim
Rank  AIR 30 (CSE 2019)
Hobbies
  • Teaching
  • Marshall art
  • Agriculture
 

संक्षिप्त जीवन परिचय : Pari Bishnoi IAS


25 वर्षीय परी बिश्नोई का जन्म बीकानेर जिले की नोखा तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम काकड़ा के सम्पन्न परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम अधिवक्ता मनीराम बिश्नोई है व माता का नाम इंस्पेक्टर सुशीला बिश्नोई है। सुशीला बिश्नोई वर्तमान में राजस्थान के अजमेर के जीआरपी में थानाधिकारी है। वहीं परी बिश्नोई के दादा गोपीराम बिश्नोई काकड़ा ग्राम के चार बार सरपंच रह चुके हैं।

शिक्षा : IAS परी बिश्नोई 


परी बिश्नोई ने प्रारंभिक शिक्षा से लेकर इंटरमीडिएट तक की शिक्षा अजमेर की सेंट मेरी कांवेंट स्कूल से ग्रहण की। उससे पश्चात परी स्नातक की पढ़ाई के लिए दिल्ली चली गई और इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमेन, दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री हासिल की। इसके साथ ही उसने सिविल सर्विसेज की तैयारी भी सक्रिय रूप से की। परी ने राजनीति विज्ञान विषय में एमडीएस विश्वविद्यालय, अजमेर से स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की। विलक्षण प्रतिभा की धनी परी की पढ़ाने में रुचि रही है इसी के चलते परी ने नेट की परीक्षा ही नहीं दी बल्कि नेट-जेआरएफ क्लियर भी किया। परी बिश्नोई ने अपने तीसरे प्रयास में 30वीं रैंक से आईएएस (CSE 2019) बनने में सफलता प्राप्त की है। 


Pari Bishnoi IAS attempts : सिविल सेवा परीक्षा में परी का यह तीसरा प्रयास था। पहले अटेम्प्ट में परी परीक्षा भी पास नहीं कर पाई थी। दूसरे अटेम्प्ट में वो पहले प्रयास से कहीं बेहतर स्थिति में थी। इस बार वो मुख्य परीक्षा पास कर साक्षात्कार प्रक्रिया तक पहुंचने में कामयाब रही। परी बिश्नोई तीसरे अटेम्प्ट में युपीएससी की कठिन डगर में तिलिस्मी छलांग लगाकर शीर्ष पर जा पहुंची। वह भारतवर्ष में 30वीं रैंक हासिल कर आईएएस बनी। परी साक्षात्कार के बाद सीधे आईएएस बनने वाली प्रथम बिश्नोई महिला है।


आईएएस बनने की प्रेरणा और तैयारी : Pari Bishnoi IAS strategy


परी के पिता अधिवक्ता है और माता जीआरपी में इंस्पेक्टर के रूप में सेवाएं दे रही हैं। दोनों ही लोगों को अपने अधिकारों के प्रति जागरूक करने व उन्हें अधिकार दिलाने के क्षेत्र में कार्यरत हैं। इसका सीधा असर इनकी बेटी पर पड़ा। बचपन से ही माता-पिता से प्रेरणा लेकर परी ने सिविल सेवा में जाने का मन बना लिया।

परी के माता-पिता ने उसकी शिक्षा पर बहुत ध्यान दिया जिससे आज वह इस मुकाम पर पहुंचने में कामयाब हुई है। सिविल सेवा के लिए परी ने स्नातक करने के बाद 1 वर्ष तक दिल्ली में रहकर तैयारी की। उसके पश्चात परी ने घर पर रहकर ही तैयारी करने का मन बना लिया और वह अजमेर आ गई। परी बिश्नोई ने बताया कि परीक्षा से पहले उसकी मम्मी की पोस्टिंग मुंडवा थाने में हो गई। अपनी मम्मी के साथ रहकर प्रिपरेशन का मुख्य भाग मुंडवा थाने में  पूरा किया। तैयारी के लिए इंटरनेट को मुख्य साधन बनाया। 


Pari Bishnoi Optional Subject : चुंकि ग्रेजुएशन के दौरान राजनीति विज्ञान परी का पसंदीदा ऑप्शनल सब्जेक्ट रहा था अतः राजनीति विज्ञान को ऑप्शनल के रूप में चूज किया।


कैडर चुनाव: परी बताती है कि उसकी प्रेरणा राजस्थान कैडर को लेकर थी हालांकि जहां पर भी मुझे काम करने का मौका मिलेगा, अच्छी तरीके से करने की प्राथमिकता रहेगी।


परीक्षा भाषा : परी ने अंग्रेजी माध्यम (English Language) से परीक्षा दी ।


पसंद/रूचि

  1.  मार्शल आर्ट : पढ़ाई के साथ-साथ परी ने मार्शल आर्ट में भी ट्रेनिंग ली है। 
  2. पढ़ाना: परी को पढ़ाना बहुत ही अच्छा लगता है।
  3. कृषि: कृषि परी बिश्नोई के परिवार का पारिवारिक पेशा रहा है। भविष्य में परी कृषि क्षेत्र में विशेष करना चाहेंगी।


IAS प्रशिक्षण :

परी बिश्नोई को प्रशिक्षण के लिए सिविल सर्विसेज प्रशिक्षण केंद्रों में सबसे मशहूर लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकेडमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन (LBSNAA) मसूरी मिला है। वर्तमान वह में LBSNAA, मसूरी से आईएएस का प्रशिक्षण ग्रहण कर रही है।



साथियों हमने आपसे इस ब्लॉग पोस्ट में समाज के युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत परी बिश्नोई आईएएस के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी साझा की है। आशा है यह आपके लिए रुचिकर और उपयोगी सिद्ध होगी।  अगर आपके पास परी बिश्नोई से संबंधित कोई प्रश्न, सुझाव या शिकायत है तो टिप्पणी में अवश्य लिखें।

आपसे निवेदन है इस पोस्ट को अपने उन दोस्तों के साथ साझा कीजिए जो किसी ना किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में लगे हुए हैं।


2/Post a Comment/Comments

कृपया टिप्पणी के माध्यम से अपनी अमूल्य राय से हमें अवगत करायें. जिससे हमें आगे लिखने का साहस प्रदान हो.

धन्यवाद!


  1. अगर हो सकें तो ये बताने का प्रयास करें की IAS परी बिश्नोई ने किस संस्थान से कोचिंग ली या selp study ke द्वारा ही एग्जाम पास किया ह

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. जी,
      परी बिश्नोई ने अपनी तैयारी मुख्य भाग सेल्प स्टडी‌ से पुरा किया। हालांकि इस दौरान उन्होंने VISION IAS से प्रिपरेशन से संबंधित मेटेरियल लिया है। इसके साथ ही cseiq जैसे पॉर्टल भी उनके लिए उपयोगी सिद्ध हुए।

      हटाएं

एक टिप्पणी भेजें

कृपया टिप्पणी के माध्यम से अपनी अमूल्य राय से हमें अवगत करायें. जिससे हमें आगे लिखने का साहस प्रदान हो.

धन्यवाद!


Hot Widget