भूड़ टीबा मन्दिर काँठ में हवन-यज्ञ के साथ मनाया विश्नोई समाज का 537वां स्थापना दिवस

 भूड़ टीबा मन्दिर काँठ में हवन-यज्ञ के साथ मनाया विश्नोई समाज का 537वां स्थापना दिवस 

भूड़ टीबा मन्दिर काँठ में हवन-यज्ञ के साथ मनाया विश्नोई समाज का 537वां स्थापना दिवस


विष्णुदास, कांठ। कल विश्नोई पन्थ के ५३७ वें स्थापना दिवस के अवसर पर भूड़ टीबा मन्दिर काँठ में एक भव्य धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे प्रात: कालीन बेला में गुरु जम्भेश्वर भगवान की वेदमय-सबदवाणी के १२० सबदों के द्वारा  संत प्रणवानन्द जी  हरिद्वार व जांभाणी प्रेमियों व् प्रचारकों के द्वारा हवन किया गया। हवन के उपरांत पाहल बनाया गया उपस्थित सभी धर्म-प्रेमी सज्जनों ने पाहल ग्रहण किया। तत्पश्चात एक भव्य धार्मिक कार्यक्रम की शुरुआत हुई जिसमें क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों के साथ-साथ गाँव के धार्मिक/पर्यावरण व् समाजिक महानुभावों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। 

मुरादाबाद से आदरणीय प्रदीप विश्नोई 'एडवोकेट' पूर्व अध्यक्ष विश्नोई सभा उत्तर प्रदेश एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अखिल भारतीय विश्नोई महासभा ने समाज को संगठित होने पर जोर दिया।इसी अवसर पर संस्था द्वारा आदरणीय श्री प्रदीप विश्नोई 'एडवोकेट' मुरादाबाद को राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल करने के लिए अखिल भारतीय विश्नोई महासभा के संरक्षक श्री कुलदीप विश्नोई को धन्यवाद देते हुए प्रदीप विश्नोई का स्वागत किया गया।

मुरादाबाद से ही बलवीर विश्नोई ने मंच के माध्यम से दास से सोशल मीडिया के माध्यम से धार्मिक/पर्यावरण व् सामाजिक कार्यों की गतिविधि को सोशल मीडिया के माध्यम से जन-जन तक पहुँचाने के लिए आदेश दिया आप ही ने अपने उद्बोधन के दौरान कहा कि ऐसे कार्यक्रम समय-समय पर विभिन्न सामाजिक अवसरों के दौरान प्रत्येक गाँव/शहर व् मन्दिरों में आयोजित होने चाहिए। मुरादाबाद से विश्व बंधु जी ने बच्चों की पढ़ाई-लिखाई पर जोर दिया। बहुत ही अल्प आयु में सबदवाणी की जानकारी रखने वाले आदरणीय अक्षत विश्नोई ने विश्नोई युवा बंधुओं से नशा न करने को कहा इस प्रकार अनेक विद्वानों ने अपना ज्ञानवर्धक उद्बोधन प्रस्तुत किया जिनका जिक्र विस्तार भय से यहाँ करना संभव नहीं आज के कार्यक्रम का बेहतरीन मंच संचालन आदरणीय राजवीर सिंह महमूदपुर ने किया। गुरु प्रणवानन्द जी हरिद्वार ने आशीर्वचन प्रदान किया अंत में दिलावर सिंह जी ने आये हुए सभी महानुभावों का आभार प्रकट किया इस कार्यक्रम में आये हुए अतिथियों ने भूड़ टीबा मन्दिर की व्यवस्था एवं उनके द्वारा किए गए अतिथियों के सम्मान हेतु समस्त समाज सेवकों का आभार प्रकट किया।


0/Post a Comment/Comments

कृपया टिप्पणी के माध्यम से अपनी अमूल्य राय से हमें अवगत करायें. जिससे हमें आगे लिखने का साहस प्रदान हो.

धन्यवाद!


Hot Widget