जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर बहनोई-साला एक साथ बने अस्सिटेंट प्रोफेसर

 जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर बहनोई-साला एक साथ बने अस्सिटेंट प्रोफेसर

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर बहनोई-साला एक साथ बने अस्सिटेंट प्रोफेसर


आरपीएससी द्वारा आयोजित सहायक आचार्य परीक्षा संस्कृत का रिजल्ट जारी कर दिया गया है। जारी किए गए परिणाम में बहनोई-साला एक साथ पढ़ते हुए सहायक आचार्य चयनित हुए हैं। बहनोई सुभाष जांगू राजस्थान भर में सेकेंड टॉपर रहे तो वहीं साला भजनलाल बिश्नोई 18 वीं रैंक के साथ सहायक आचार्य बने हैं।


दोनों ही है जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के रिसर्च स्कॉलर

सुभाष जांगू व भजनलाल बिश्नोई दोनों देश के नामचीन विश्वविद्यालय ‘जवाहरलाल नेहरु वि. नई दिल्ली’ के रिसर्च स्कॉलर है।
भजनलाल, रामजस कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय में बीए. ऑनर्स (संस्कृतम्) में सत्र 2015-17 के गोल्ड मेडलिस्ट रहे हैं।

सुभाष जांगू बाड़मेर के मोखतरा के रहने वाले हैं। इनके पिता का नाम श्री हेमाराम जांगू है। वहीं भजनलाल बाड़मेर के धोरीमन्ना क्षेत्र के किसान परिवार से ताल्लुक रखते हैं। इनके पिता का नाम स्व. किशनलाल धत्तरवाल है।


समूचा परिवार लोक सेवक, शिक्षा और योग में के क्षेत्र में दे रहा है सेवा

साले-बहनोई के एक साथ संस्कृत के असिस्टेंट प्रोफेसर बनने से पहले परिवार में आईआईटियन अशोक बिश्नोई SDM हैं। तो वहीं ओमी विश्नोई ने राजस्थान पुलिस में SI के पद पर सेवारत रहते हुए RPSC द्वारा आयोजित RAS 2018 में 902वीं प्राप्त करने में सफल रही। भुवनेश जिन्हें उत्तराखंड सरकार का सर्वश्रेष्ठ योग पुरस्कार ‘योगी श्री’ मिला है; उच्च अध्ययन में दिल्ली में अध्यनरत है।



0/Post a Comment/Comments

कृपया टिप्पणी के माध्यम से अपनी अमूल्य राय से हमें अवगत करायें. जिससे हमें आगे लिखने का साहस प्रदान हो.

धन्यवाद!


Hot Widget

VIP PHOTOGRAPHY